Thundan/ September 1, 2017/ Hindi Romantic Stories, Hindi Sex Stories

Meri Sex Story Par Sabse Jyada Pasand Ki Jaani Waali – Meri Chut Chulbulati Jaaye…
लेखिका – पिंकी
दोनों नशे में थे और मुझे ज़ोर ज़ोर से धक्के मार रहे थे..
मैं भी नशे में थी और पूरी तरह से गरम थी इसलिए मैं भी उनके इन धक्के को एंजाय कर रही थी..
शुभम अपना लंड मेरी मुंह में पूरा अंदर डाल रहा था और निकाल रहा था..
आदर्श भी चूत में अंदर तक तूफान मचा रहा था.. दोनों की आ आ की आवाज़े भी चोदने के माहोल को और भी कामुक बना रही थी..
सोचा नहीं था की आज आदर्श और शुभम दोनों मिल के मुझे ये सुख देने वाले थे..
फिर शुभम ने मेरे मुंह से अपना लंड निकाला और लंड पकड़ के मेरी पीछे जाने लगा.. आदर्श लंड को हाथ में लिए हुए मेरे मुंह के पास आ गया और अब शुभम ने मेरी चूत की गुफा में एंटर किया और आदर्श ने मेरी मुंह में एंटर किया..
फिर शुभम पागलों की तरह मुझे चोदने लगा..
आदर्श भी ज़ोर ज़ोर से मेरे मुंह में अपना लंड पेल रहा था.. मेरी चूत मस्त हो गई थी और जल्दी ही मेरी चूत मे पानी छोड़ दिया और मैं झड़ गई..
मस्त कहानियाँ हैं, मेरी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर !!! !!
फिर भी आदर्श और शुभम मुझे बिना रुके चोदते रहे..
थोड़ी देर इसी पोज़िशन में चोदने का बाद आदर्श ने मेरे मुंह से अपना लंड निकाला शुभम को इशारा किया और खुद सोफे पे लेट गया..
उसका लंड फुल साइज़ में टाइट खड़ा हुआ था, उसने मुझे अपने ऊपर खींचा, मैं उसके लंड में बैठने की कोशिश करने लगी पर उसने मना कर दिया.. और मुझे अपने ऊपर पीठ के बल लेटा लिया.. अब आदर्श नीचे सो रहा था और मैं उसके ऊपर सो रही थी..
फिर उसने अपनी पोजीशन सेट की, हाथ से लंड पकड़ा और मेरी गाण्ड के छेद में डालने लगा.. अब मुझे समझ आया की आदर्श नीचे से मेरी गाण्ड मारना चाहता है और शुभम मेरी चूत को ऊपर से चोदेगा.. आदर्श का लंड मेरी गाण्ड के छेद में एंटर कर गया था..
शुभम मेरे पैरों के बीच में आ गया था, मैंने पैर उठा के उसके जकड़ लिया, शुभम ने आदर्श के लंड को हाथ से पकड़ के मेरे गाण्ड के अंदर और भी डाल दिया..
अब आदर्श मेरी गाण्ड में लंड को डाल के शुभम का वेट करने लगा.. शुभम ने मेरी चूत में अपना लंड रखा और एक ही धक्के में पूरा लंड चूत में डाल दिया..
वाव, मैं वर्ड्स में नहीं बता सकती की मुझे इतना मज़ा आ रहा था..
फिर आदर्श ने अपना लंड बाहर की और खींचा और फिर से मेरी गाण्ड में डालने लगा, जब आदर्श गाण्ड में अंदर लंड डाल रहा था तो आदर्श अपनी लंड को चूत से बाहर ले जाता..
फिर दोबारा जब आदर्श लंड बाहर करता तो शुभम पूरा लंड मेरी चूत में पेल देता.. इस तरह से दोनों लंड बारी बारी से मेरी चूत और गाण्ड मारने लगे.. दोनों बड़े ही सिंक में मेरु चूत और गाण्ड की लगा रहे थे.. इस बार मेरा मुंह फ्री था तो मैं हर धक्के पे अपनी चूसी आवाज़ निकाल रही थी..
पिंकी – चोदो आदर्श, मेरी गाण्ड मारो.. शुभम मेरी चूत फाड़ दो.. अया, आआआः, अओ..
तीनों की चुदसी आवाज़ से रूम हर तरफ बस चूत और लंड ही लग रहे थे..
दोनों ने मुझे इसी पोजीशन में काफ़ी देर तक चोदा..
पिंकी – आदर्श गाण्ड में झड़ जाओ, शुभम तुम चूत में ही डाल दो अपना रस..
फिर दोनों ने अपनी चुदाई की स्पीड और बढ़ा दी, दोनों अपने झड़ने की और आ गये थे.. दोनों ने ऑलमोस्ट एक साथ झड़ना शुरू किया..
मेरी चूत और गाण्ड को अपने अपने स्पर्म से दोनों ने भर दिया..
झड़ने के बाद दोनों सोफे पे आराम से लेट गये मैं नीचे से उनके लंड में लगे रस को एक एक करके चूसने लगी.. दोनों ने अपनी आँखें बंद कर ली थी.. शायद ड्रिंक और चुदाई के एफेक्ट से थक गये थे और दोनों वहीं के सो गये..
मैंने पास ही रखे लाल वाइन के ग्लास से वाइन ख़त्म की और चूत और गाण्ड से जितना हो सका आदर्श और शुभम का स्पर्म कलेक्ट किया..
मैंने अपने लिए एक सिगरेट जलाई और उसके साथ अपना ड्रिंक एंजाय किया..
फिर मैंने भी वहीं लिविंग रूम में ही अपना बेड लगाया और मैं भी वहीं सो गई..
सुबेह आदर्श सबसे पहले उठा और मुझे और शुभम को उठाया.. हम तीनों अभी भी नंगे थे..
आदर्श – लास्ट नाइट वाज़ फन..
शुभम – वाव, मुझे तो यकीन ही नहीं हो रहा की ये सब हुआ है..
पिंकी – यकीन तो मुझे भी नहीं हो रहा पर मुझे बहुत मज़ा आया..
शुभम – पिंकी, मज़ा तो मत ही बोलो.. कल जो हुआ बस वो आग था आग..
आदर्श – हाँ यार मज़ा आ गया..
फिर शुभम ने अपनी ड्रेस पहनी और वो अपने घर चला गया.. मैंने भी सुयश को कॉल करके घर बुला लिया..
होप की आपको ये एपिसोड पसंद आए.. आगे की कहानी अब नेक्स्ट पार्ट में..
Meri Sex Story Par Padhte Rahiye – Meri Chut Chulbulati Jaaye…