Thundan/ September 1, 2017/ Hindi Romantic Stories, Hindi Sex Stories

Meri Sex Story Par Meri Chut Chulbulati Jaaye Ke Siva Aap Sex Education Ka Aisa Chapter Aur Kahin Nahi Padege…
लेखिका – पिंकी
सुयश – आंटी, लिप्स, ईयर और उसके आस पास, नेक, बाईं चुचि, दाई चुचि, क्लीवेज, नाभि, चूत के आस पास, चूत, गाण्ड और फिर तलवा..
निशा – हाँ फिर जब तुम लिप्स से स्टार्ट करके, तलवे तक पहुँच जाओ तो फिर से लिप्स पे जाओ और फिर से स्टार्ट करो.. उसके बाद कुछ देर तक तुम वैसे ही स्टार्ट से एंड करो, फिर थोड़ी देर बाद, तलवे से स्टार्ट करो और लिप्स तक जाओ.. फिर उसके बाद चाहो तो तुम ये सीक्वेन्स मिक्स करो, पर किसी भी पार्ट को इग्नोर मत करना..
पिंकी – हाँ बेटा ऐसे करने से, लड़की तुम्हारी दीवानी हो जाएगी.. उसे यकीन हो जाएगा की तुम्हारे लिए उसकी ख़ुशी और उसकी नीड इतनी ज़्यादा ख़ास है.. फिर चलो तो चूत पे एक्सट्रा कॉन्सेंट्रेट कर लेना और बचे हुए पार्ट को एक एक करके एंजाय करना.. मेरा मतलब, लिप्स-चूत, कान-चूत, बूब्स-चूत, नेक चूत, नाभि चूत.. समझे..
निशा – ऐसे करके सोचो की उसका एक बार और पानी निकाल देना है.. सोचो अभी तक तुमने अपनी नीड का सोचा भी नहीं, और उसका दो बार पानी निकाल दिया.. सोचो की वो कितनी गरम हो जाएगी..
मस्त कहानियाँ हैं, मेरी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर !!! !!
सुयश – पर आंटी यदि आहना एक बार पानी छोड़ देगी तो थक नहीं जाएगी.. फिर मैं कैसे कंटिन्यू करूँगा..
निशा – बेटा यहाँ पे जा के थोड़ा डिफरेन्स है, लड़के और लड़की मैं.. लड़कियाँ एक साथ काई बार झड़ सकती है.. लड़को को थोड़ा टाइम चाहिए होता है.. इसलिए इस बात से मत डरो की तुम्हें कुछ नहीं मिलेगा.. तुम्हें मिलेगा और अच्छे से मिलेगा..
सुयश – धन्यवाद आंटी, धन्यवाद मम्मी.. समझ आ गया..
मम्मी उसके बाद..?..
पिंकी – उसके बाद लड़की खुद ही तुम्हारे लंड को अपने कब्ज़े में ले लेगी.. उसके बाद तुम एंजाय करना..
सुयश – आंटी क्या आहना मेरा लंड मुंह में लेगी..
निशा – हाँ ज़रूर लेगी..
सुयश – पर वो बोलती है की उसे अच्छा नहीं लगता..
निशा – होता है बेटा, स्टार्ट में थोड़ा घिंन लगता है.. पर फिर बहुत मज़ा आता है.. तुम टेंशन ना लो, वो तुम्हारा अच्छे से चुसेगी..
वैसे साथ में एक फ्लेवर कॉंडम रख लेना.. यदि उसे डाइरेक्ट चूसने में प्राब्लम हो तो स्टार्ट में कॉंडम लगा के चुसवा लेना..
पिंकी – हाँ बेटा, याद रखना जब वो तुम्हारा लंड चुसेगी तो तुम अपनी तरफ से उसके मुंह में डाइरेक्ट धक्का मत लगा देना.. देख लेना की वो कितना अंदर ले सकती है.. जब वो शांत हो जाए तुम्हारे लंड को अपने मुंह में लिए.. और चूसते चूसते थक के रुक जाए, तब तुम अपना लंड उसकी मुंह में आगे पीछे करना.. निशा प्रॅक्टिकल करने देते हैं उसे.. बेटा, जाओ आंटी ने जो तुम्हें सिखाया लिप्स से तलवे तक उसे कर के दिखाओ मुझे..
निशा ने अपने बचे हुए सारे कपड़े उतार दिए.. और बेड पे लेट गई..
सुयश को जैसा सिखाया था उसने वैसे ही निशा की लीप से ले के तलवे तक चाटना शुरू किया..
निशा गरम हो के मचल रही थी..
फिर सुयश ने चूत पे ज़्यादा ज़ोर दिया और बाकी पार्ट्स को अलग अलग से चाटना शुरू किया.. चूत तो वो सच में बड़े प्यार से चाट रहा था.. मैं अपने बेटे को अपनी सहेली की साथ ऐसा करते देख गरम तो हो रही थी, पर मैंने खुद को कंट्रोल किया हुआ था..
निशा – पिंकी, ही इस गुड.. काफ़ी अच्छा कर रहा है ये.. मेरी बेटी तो पागल हो जाएगी..
पिंकी – ह्म, आख़िर तू सीखा रही है..
निशा – तू भी सीखा दे, पिंकी सच में करने दे इसे, तू भी भूल जा आज की ये तेरा बेटा है..
पिंकी – नहीं निशा, मैं देख तो रही हूँ.. जब कंट्रोल नहीं होगा, एक डिल्डो डाल लूँगी अपनी चूत में.. तू एंजाय कर ना..
सुयश – मम्मी क्या एक बार पासिबल है..
पिंकी – नहीं बेटा..
सुयश – ओ के .. मम्मी, पर देखा ना मेरा लंड, देख के आपको कुछ नहीं हो रहा..
पिंकी – मैं देख के ही गीली हो गई हूँ, पर उसका मतलब ये थोड़े ही है की मैं अपने बेटे का ही लंड ले लूँ..
निशा – अच्छा बाबा, मत चुदवाना.. पर मुझे ये समझ नहीं आता की तुझे इसके लंड चूसने में क्या प्राब्लम है.. लंड चूस, अपनी चूत चुसवा, अपनी चुचियाँ चुदवा ले.. तेरी चूत में नहीं घुसेगा ये..
पिंकी – निशा तू कंटिन्यू कर ना, मैं पहले से वीक हो रही हूँ.. मुझे ज़्यादा मत बोले प्लीज़..
निशा – ठीक है.. तू बस देख के एंजाय कर, अब मैं बेटे का लंड मुंह में ले रही हूँ..
फिर निशा ने सुयश का लंड मुंह में ले लिया.. और उसके लंड को ज़ोर ज़ोर से पूरा अंदर ले ले के चूसने लगी.. सुयश आँखें बंद करके मज़े से अपना लंड चुसवा रहा था..

सुयश – आंटी बहुत मज़ा आ रहा है, आंटी आ आ, आंटी और चूसो मेरा लंड..
निशा – मुझसे अच्छा तेरी मम्मी चूसती है लंड..
सुयश – मम्मी नहीं चुसेगी आंटी आप ही चूसो..
फिर निशा सुयश के लंड को चूसने लगी.. मुझसे कंट्रोल नहीं हो रहा था तो मैंने भी डिल्डो निकाला और उसे अपनी चूत में डाल के अपनी चूत को चोदने लगी..
सामने मेरे बेटे का लंड था, उसकी लंड में मेरी बेस्ट फ़्रेंड का मुंह.. ये सीन देख के मैं इतनी गरम हो चुकी थी, की डिल्डो के डालते ही मेरी चूत पानी छोड़ दिया..
कहानी जारी रहेगी…
Meri Sex Story Ki Taraf Se Main Msst Kamini Apne Sabhi Readers Ko Dhanyavad Deti Hoon…